Home Islamic StatusIslamic Status in Hindi Whatsapp Facebook Instagram
Islamic Status in Hindi Whatsapp Facebook Instagram

Islamic Status in Hindi Whatsapp Facebook Instagram

~islamic status urdu-islamic status messages-islamic status hindi-islamic status-islamic status for whatsapp in arabic-islamic status ~download-islamic status about life-islamic ~status for facebook in hindi.

~~~~+जो अल्लाह की रह पर खर्च करने में कंजूसी करता है, वह असल में अपने ही साथ कंजूसी करता है।”

~~~~+फुर्सत नहीं है इन्सान को घर से मस्जिद तक जाने की..! ख्वाहिश रखता है कब्रिस्तान से सीधे जन्नत जाने की~~~~+

~~~~+बुराई को अच्छाई से जीतना अच्छी बात है, बुराई को बुराई से काबू में लाना बुरी बात है.”

~~~~+अगर तुम किसी से मुहब्बत करते हो तो, उसका हाथ थामो और कहो, आओ नमाज़ पढ़ते है।”

~~~~+जी अपने आप को जानता है, वह अल्लाह को जानता है।”

~~~~+वह हममें से नहीँ है, जो बच्चों के प्रति स्नेहवान नहीँ होता और बुजुर्गो की प्रतिष्ठा का सम्मान नहीँ करता और वह हममें से नहीं है, जो भलाई का हुक्म नहीं देता और बुराई को नहीं रोकता।”

~~~~+साफ-सुथरे रहो क्यूंकि इस्लाम साफ-सुथरा मज़हब है।”
Islamic Status in Hindi Whatsapp Facebook Instagram
~~~~+तू मेरी दुआओं में शामिल है इस तरह फूलों में होती है खुशबु जिस तरह अल्लाह तुम्हारी जिंदगी में इतनी खुशियाँ दे ज़मीन पर होती है बारिश जिस तरह।”

~~~~+अरमाँ तमाम उम्र के सीने में दफ़न हैं, हम चलते फिरते लोग मज़ारों से कम नहीं~~~~+

~~~~+रमदान में ना मिल सके ईद में नज़रें ही मिला लूं हाथ मिलाने से क्या होगा सीधा गले से लगा लूं~~~~+

~~~~+मजदुर को उसका मेहनताना उसके पसीने के सूखने से पहले दे दें~~~~+

~~~~+बिना अमल के दुनियाँ को आफत की दीमक खाएगी, हम रोज नमाजें छोड़ेगें तो रोज कयामत आएगी।”

~~~~+ऐ अल्लाह, मुझे तू अपना प्यार दे, मुझे वर कि मैं उनसे प्यार करूं, जो मुझे प्यारे हैं, मैं वह कम करूं, जिससे तेरा प्यार मिले, तू अपना प्यार मेरे लिए अपने आपसे, परिवार या धन से अधिक प्यारा बना दे।”

~~~~+एक आदमी ने पूछा, “ऐ अल्लाह के रसूल ! इस्लाम का सर्वोत्कृष्ट अंग कौनसा है ?” उन्होंने कहा, “यह कि तू जिन्हें जानता है और जिन्हें नहीं जानता, उन सबको सलाम कर~~~~+

~~~~+अगर तुम अल्लाह पर ईमान रखते हो क्योंकि उस पर ईमान रखा ही जाना चाहिए, तो वह तुम्हेँ ठीक वैसे ही देगा, जैसे वह परिन्दों को देता है। वे सुबह खाली और भूके पेट निकलते हैं और शाम को भरपेट होकर लौटते हैं~~~~+

~~~~+Tumhare behtareen loog, wo hain jo tum me achay, Ikhlaq k malik hain.”

~~~~+Jab Dua Aur Koshish, Say Baat Na Baney Tou, Faisla Allah Par Chorh Do, Allah Apne Bando’n Ke Barey Main Behtar Fesla Karny Wala Hay~~~~+

~~~~+Quran parho to dil khil jaye, Namaz parho to chehra roshan hojaye, Kitni dilkash hai Rasul-e-Khuda ki Sunnatain, Amal karo to zindagi sanwar jaye”

~~~~+Golden word’s: Jo musibat apko Allah ki taraf, Mutawajja kar de,wo musibat nahin rehmat he, Aor Jo neymat apko Allah se ghafil kardey, Woh neymat nahin, musibat hay.”

~~~~+Agar tum muhammad (s,a,w) ki ummat sey ho Tu, Apney kirdaar ko itna buland karo Ke, Doosrey log dekh kar kahain Agar ummat aisi hai tu socho nabi kaisa hoga~~~~+

~~~~+तुम तब तक जन्नत में प्रवेश नहीं कर सकोगे, जब तक ईमान न लाओगे और तब तक तुम्हारा ईमान पूरा नहीं होगा, जब तक तुम परस्पर प्यार न करोगे।”


~~~~+तमन्ना आपकी सब पूरी हो जायें, हो आपका मुक़द्दर इतना रौशन कि, आमीन कहने से पहले आपकी हर दुआ कबूल हो जाये!”

~~~~+अल्लाह के नजर में सर्वोत्कृष्ट सहचर वह है, जो अपने सहचरों के लिए सर्वोत्कृष्ट हो और सबसे अच्छा पडोसी वह है, जो अपने पडोसीयों के लिए अच्छा हो~~~~+


~~~~+चुगली व्यभिचार से भी बुरी है। अल्लाह तब तक चुगलखोर को माफ नहीं करेगा, जब तक उसका साथी (जिसकी उसने बुराई की है) उसे नहीं माफ कर देता।”

~~~~+अल्लाह अपने धर्म प्रचारकों के प्रति जो प्रेम करता है वह माता के द्वारा शिशु के प्रति किये जाने वाले प्रेम से अधिक है।”

~~~~+जब तुम बोलो तो सच बोलो, जब वचन दो तो उसे पूरा करो, अपने दायित्व का निर्वाह करो, व्यभिचार न करो, पवित्र बनो बुरे विचार मन में मत लाओ, अपने हाथ को रोको प्रहार करने से तथा उस चीज को ग्रहण करने से जो अवैध और बुरी है~~~~+

~~~~+सच्चा मोमिन खुशहाली में अल्लाह का शुक्रिया अदा करता है और जब वह मुफलिसी में होता है तो उसके इच्छा के प्रति समर्पित होता है।”

~~~~+नेक बनने के लिए ऐसी कोशिश करो जैसी कोशिश खूबसूरत दिखने के लिए करते हो !!जो ईमान तुम्हे बिसतर से उठा कर मस्जिद या मुसल्ले तक नही ले जा सके वो ईमान तुम्हे कब्र से उठा कर जन्नत कैसे ले जायेगा?”

~~~~+सबसे अच्छा मुसलमानी घर वह है, जहां यतीम पलता है और सबसे बुरा घर वह है, जहां यतीम के साथ दुर्व्यवहार किया जाता है.

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Show Buttons
Hide Buttons