Home Alone girl boy wallpaper images shayariAlone girl boy wallpaper images shayari in hindi download
Alone girl boy wallpaper images shayari in hindi download

Alone girl boy wallpaper images shayari in hindi download

#sad boy pic hd-alone images girl-new alone boy images-alone images wallpaper-alone wallpaper girl-sad image of feeling-alone images in love-alone images hd,Alone girl boy wallpaper images shayari in hindi download.


~फासला भी जरूरी है, चिराग रौशन करने वक्त;
तजुर्बा ये हुआ हाथ जल जाने के बाद~
~~~~~~~~~~~
~मेरी यादों से अगर बच निकलो तो, वादा मेरा है तुमसे,
मै खुद दुनिया से कह दूगी की, ~कमी मेरी वफ़ा में थी
~~~~~~~~~~~~~~

कुछ तो तन्हाई की रातों में सहारा होता;
तुम न होते न सही ज़िक्र तुम्हारा होता!
~~~~~~~~~~
नाराज़गी बहुत है हम दोनों के दरमियान;
वो गलत कहता है कि कोई रिश्ता नहीं रहा
~~~~~~~~~~~
~सौ बार चमन महका सौ बार बहार आई;
दुनिया की वही रौनक़ दिल की वही तंहाई!
~~~~~~~~~
~ग़म तो जनाब फ़ुरसत का शौक़ है,
ख़ुशी में वक्त ही कहाँ मिलता है
~~~~~~~~~


~ज़रा छू लु तुमको के मुझको यकीं आ जाये;
लोग कहते है, मुझे साये से मोहब्बत है!
~~~~~~~~~

ये आईने क्या दे सकेंगे तुम्हे तुम्हारी शख्सियत की खबर;
कभी हमारी आँखो से ~आकर पूछो, कितने लाजवाब हो तुम!
~~~~~~~~~~~
दिल की बात ~दिल में छुपा लेते हैं वो,
हमको देख कर मुस्कुरा देते हैं वो,
हमसे तो सब पूछ लेते हैं,
पर हमारी ही बात हमसे छुपा लेते हैं वो|
~~~~~~~~~

कोई आदत, कोई बात, या सिर्फ मेरी खामोशी;
कभी तो, कुछ तो, ~उसे भी याद आता होगा!
~~~~~~~~~~~~~~
आसानी से नहीं मिलता ये ~शोहरत का जाम;
काबिल-ए-तारीफ़ होने के लिए वाकिफ़-ए-तकलीफ़ होना पड़ता है!

~जिधर जाते हैं सब जाना उधर अच्छा नहीं लगता;
मुझे पामाल रस्तों का सफ़र अच्छा नहीं लगता!
~~~~~~~~~~`

शर्म ओ हया का अख़्तियार इतना रहा हम पर;
जिसको चाहा उमर भर, ~उसी को जता ना सके!
~~~~~~~~~~

~न जाने क्या जादू है आपके पाक इश्क और अदाओं में;
बेफ़िक्र हूँ ज़माने से और मसरूफ़ हूँ आपकी मोहब्बत में~~~
~~~~~~~~~

~ज़ायां ना कर अपने अल्फाज किसी के लिए;
खामोश रह कर देख तुझे समझता कौन है~
~~~~~~~~~~~~

~हमारे हर सवाल का सिर्फ एक ही जवाब आया,
पैगाम जो पहूँचा हम तक बेवफा इल्जाम आया~~~

सोचा न था जिंदगी में​ ऐसे भी फ़साने होंगे;
रोना भी जरूरी होगा और ~आसूँ भी छुपाने होंगे।
~~~~~~~~~~~

न किस्सों में, और न किस्तों में,
जिंदगी की खूबसूरती है चंद सच्चे रिश्तों में!
~~~~~~~~~~~~
बड़ी तेज़ है आज, ये ​यादों की शीतलहर;
चलो ​शायरियों​ का ही ​~अलाव तापा जाए!
~~~~~~~~~~
प्यार करना हर किसी के बस की बात नहीं;
जिगर चाहिए अपनी ही ~खुशियां बर्बाद करने के लिए।
~~~~~~~~~~
रखना है तो फूलों को, ~तू रख ले निगाहों में;
ख़ुशबू तो मुसाफ़िर है, खो जाएगी राहों में!
~~~~~~~~~~~~
अब खुद से मिलने को मन करता है;
लोगो से सुना है कि बहुत बुरे है हम!
~~~~~~~~~~

~~~~~~~~~
कोई आदत, कोई बात, ~या सिर्फ मेरी खामोशी;
कभी तो, कुछ तो, उसे भी याद आता होगा!
~~~~~~~~~
आसानी से नहीं मिलता ये ~शोहरत का जाम;
काबिल-ए-तारीफ़ होने के लिए वाकिफ़-ए-तकलीफ़ होना पड़ता है!
~~~~~~~~~

तेरी आरज़ू में हमने बहारों को देखा;
तेरी जुस्तजू में हमने ~सितारों को देखा;
नहीं मिला इससे बढ़कर इन निगाहों को कोई;
हमने जिसके लिए सारे जहान को देखा।
~~~~~~~~~~

ख़ुद्दारी वजह रही कि ज़माने को कभी हज़म नहीं हुए हम,
पर ख़ुद की नज़रों में, य~कीं मानो, कभी कम नहीं हुए हम!
~~~~~~~~

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Show Buttons
Hide Buttons