Home Aansoo Shayari hindi Love ImagesAansoo Shayari hindi Love Images Download Dp whatsapp Facebook
Aansoo Shayari hindi Love Images Download Dp whatsapp Facebook

Aansoo Shayari hindi Love Images Download Dp whatsapp Facebook

#aansoo wallpapers-sad shayari image download-aansu image hd-pyar me dhokha wallpaper-rone wale wallpaper-love shayari image ke sath download-sad #love# shayari with images-#aansu image boy,Aansoo #Shayari hindi #Love Images Download Dp whatsapp Facebook.

Aansoo Shayari hindi Love Images Download Dp whatsapp Facebook
~कतल हुवा इस तरह हमारा किश्तों में, कभी खंजर बदल गये कभी कातिल ।।
~मुझे ढूंढने की कोशिश अब न किया कर, तूने रास्ता बदला तो मैंने मंज़िल बदल ली…!!
~इन्सान की चाहत है कि उड़ने को पर मिले, और परिंदे सोचते हैं कि रहने को घर मिले…!
~तेरी याद से अच्छी तो मेरी सराब हे ज़ालिम, ~कमब्क्त रुलाने के बाद सुला तो देती हे मुझे !!
बेर कैसे होते है ‘शबरी’ से पूछो, राम जी से~ पूछोगे तो मीठा ही बोलेंगे !!
मजबूत रिश्ते और कडक चाय……~धीरे धीरे बनते ह~~~~


दिलों की बात करता है ज़माना… पर मोहब्बत ~आज भी चेहरे से शुरू होती है…
चाहे कितनी भी डाईटिंग कर लों हसीनाओ ~जब तक भावखाना बंद नही करोगी …वजन कम नही होगा…
इतनी करुंगा मुहब्बत के तू खुद कहेगी। देखो वो मेरा आशिक़ जा रहा है..!!!
पालने मेँ Beti किसी को नही चाहिए….. ~मगर बिस्तर पर Leti हरेक को चाहिए….
Jab waqt aya to wo bik chuka tha…… hame ameer hone me zamana guzar gaya!
Kar li na tum ne tasali, dil tod kar mera……main ne kaha tha, kuch nhi is mai tere siwa..!!
Jab me Aata tha yaha to patake phode gaye the Angle k aane pe koi welcome hi kardo dosto
Bahut bheed ho gayi thi uske dil me ~achcha hua hum waqt pe nikal gyae.
Ye Zamaana Jal JayeGa Kisi Shole Ki Tarah….. Jab Tere Haath Ki Ungli Me Hogi Mere Naam Ki Anghoothi..
Kisi se itna pyar hi mt karo ki ush se 1 minute door rehna bhi aapko 1 day jaisa lge. Ishliye be single be happy.
~पैसों से तो ‪किताबें खरीदी‬ जाती हैं….. ज्ञान देने के लिए तो हमारे ‪‎Status‬ ही काफी हैं !!

~पगली ‪Block‬ करके तो चली गयी पर आज भी मेरे पेज के ‪‎status‬ पढ़ के ही सोती है।
~जिस दिन मेरी ‪‎मौत‬ आएगी तो लोग कहेँगे … इंसान मिला तो नही पर ‪‎Status‬ अच्छे डालता था…
~मेरा कुछ ना ऊखाड सकोगे तुम मुझसे दुश्मनी करके… मुझे बर्बाद करना चाहते हो तो,मुझसे मोहब्बत कर लो.
~लाख समझाया उसको की दुनिया शक करती है…. मगरउसकी आदत नहीं गयी मुस्कुरा कर गुजरने की.
~तेरा मेरा प्यार तो साला फलोप हो गया….. लेकिन तेरी यादो मे लिखे मेरे सारे ‪Status‬ सुपरहिट हो गए.
~तुम मौसम की तरह बदल रही हो, मैं फसल की तरह बरबाद हो रहा हूँ…
~हमारा ‪‎Status‬ हमारी ‪Personality‬ को शोभा देता है…. क्योंकि बात सिर्फ ‪‎Status की‬ है….।।
~सुना है आज उस की आँखों मे आसु आ गये, वो बच्चो को सिखा रही थी की, मोहब्बत ऐसे लिखते है..
~दील चुराना शौख नही… पेशा है मेरा…. क्या करें ‘Status’ ही कुछ एसा है मेरा~~~

~होठ मिला दिए उसने मेरे होठो से यह कहकर… शराब पीना छोड़ दोगे तोह यह जाम तुम्हे रोज़ मिलेगा..
‎attitude तो‬ सब लोगों के पास होता है, बस फर्क इतना है कि किसी का Attitude छिप जाता है, और हमारा Attitude तो छप जाता है..!
आगरा का ताजमहल गवाह हैं की औरत जीते जी ही नहीं मरने के बाद भी जेबें खाली करवा सकती है.
खुशियाँ बटोरते बटोरते उम्र गुज़र गई .. पर हाथ कुछ न लगा ! तब जाकर ये एहसास हुआ कि .. खुश तो वो लोग हैं “जो खुशियाँ बाँट रहे थे” !!
इतिहास गवाह हैं (खबर..) हो या (कबर..) ~खोदते ‘अपने’ ही हैं..
यूँ ही शौक़ है हमारा तो शायरी करना~किसी की दुखती रग छू लूँ.तो यारों माफ़ करना..
नीलाम कुछ इस कदर हुए, बाज़ार-ए-वफ़ा में हम आज, ~बोली लगाने वाले भी वो ही थे, जो कभी झोली फैला कर माँगा करते थे!
अकल कितनी भी तेज ह़ो नसीब के बिना नही जित सकती, ~बिरबल काफी अकलमंद होने के बावजूद.. कभी बादशाह नही बन सका ।
पानी दरिया में हो या आँखों में, गहराई और राज़ 2नो में होते हैं!!
ना छेड़ किस्सा वोह उल्फत का बड़ी लम्बी कहानी है मैं जिन्दगी से नहीं हारा किसी अपने की मेहरबानी है..
ये, फ़र्क़ तो है, दरमियाँ तेरे और मेरे, ~तुम कह कर भी नहीं कहते, और हम कह ही नहीं पाते….
तेरी बेरुखी ने छीन ली है शरारतें मेरी और ~लोग समझते हैं कि मैं सुधर गया हूँ ..!
गीली लकड़ी सा इश्क उन्होंने सुलगाया है…~ना पूरा जल पाया कभी, ना बुझ पाया है

~यूँ तो शिकायते तुझ से सैंकड़ों हैं मगर.. तेरी एक मुस्कान ही काफी है सुलह के लिये….!!
~ऊपर जिसका अन्त नही उसे आसमां कहते है~~इस जहां मे जिसका अन्त नही उसे मां कहते है॥
बड़ी मुस्किल से बनाया था अपने आपको काबिल उसके, उसने ये केहकर बिखेर दिया… की तुमसे मोह्बत तो है पर पाने की चाहत नही हे !!
छोड़ तो सकता हूँ मगर छोड़ नहीं पाता उसे, वो शख्स मेरी बिगड़ी हुई आदत की तरह है.
~हम तो यूहीँ दिल साफ रखा करते थे….. ~पता नहीं था कीमत चेहरों की होती है..
इन बादलों का मिज़ाज मेरे मेहबूब से काफी मिलता हे , कभी टुटके बरसाते हे तो कभी बेरुखी से गुजर जाते हे !!
~फ़रिश्ते ही होंगे जिनका हुआ इश्क मुकम्मल, इंसानों को तो हमने सिर्फ बर्बाद होते देखा है…..!!
मेरी जिंदगी का खेल शतरंज से भी मज़ेदार निकला.. मैं हारा भी तो अपनी हीं रानी से..!!
वो फिर से लौट आये थे मेरी जिंदगी में….अपने मतलब के लिये और हम सोचते रहे की हमारी दुआ में दम था ..
~शायरी का बादशाह हुं और कलम मेरी रानी, अल्फाज़ मेरे गुलाम है, बाकी रब की महेरबानी

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Show Buttons
Hide Buttons